Fresh Article

Type Here to Get Search Results !

कोरोना वायरस (Covid-19) क्या है और इसके लक्षण और बचाब क्या हैं

6
             
कोरोना वायरस (Covid-19) क्या है और इसके लक्षण और बचाब क्या हैं
कोरोना वायरस(Covid-19)

Coronavirus Definition- कोरोना वायरस इस नए किस्म के वायरस की शुरुआत चीन के वुहान शहर में 2019 के मध्य दिसंबर में हुई।यहां के बहुत से लोगों को बिना किसी कारण निमोनिया होने लगा और देखा गया कि पीड़ित लोगों में से अधिकतर लोगों वुहान सी फूड मार्केट में मछलियां बेचते हैं तथा अनेक जीवित पशुओं का भी व्यापार करते हैं। चीन के वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस की एक नई नस्ल की पहचान की जिसे 2019-ncov प्रारंभिक पदनाम दिया गया। 

कोरोना वायरस में 70% वही जीनोम अनुक्रम पाए गए हैं जो सार्स-कोरोना वायरस में पाए जाते हैं। 20 जनवरी 2020 को चीनी प्रीमियर ली केकियोग ने इस वायरस के कारण फैलने वाली बीमारी को रोकने और नियंत्रित करने के लिए निर्णायक और नियंत्रित प्रयास करने का आग्रह किया।


  • 14 मार्च 2020 तक दुनिया भर में इस वायरस से 5,8000 मौतें हो चुकी है।
  • 9 फरवरी 2020 तक व्यापक परीक्षण में 88,000 से अधिक पुष्ट मामलों का खुलासा हुआ था, जिनमें से कुछ स्वास्थ्यकर्मी भी है।
20 मार्च 2020 तक थाईलैंड,दक्षिण कोरिया,जापान,ताइवान मकाऊ,हांगकांग,संयुक्त राज्य अमेरिका,सिंगापुर,वियतनाम,भारत,ईरान, इराक़,इटली,क़तर,दुबई,कुवैत और अन्य 160 देशों में इस वायरस के पुष्टि होने के मामले सामने आए हैं।


  • WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) ने 23 जून 2020 को इस वायरस (कोरोना) के प्रकोप को अंतरराष्ट्रीय चिंता का एक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित करने के खिलाफ फैसला किया।


  • 31 दिसंबर 2019 को WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) को पहले से संदिग्ध मामलों को सूचित किया गया था, रोग सूचक बीमारी के पहले उदाहरणों के साथ 8 दिसम्बर 2019 को केवल तीन सप्ताह पहले दिखाई दिया था।


1 जनवरी, 2020 को बाज़ार बंद कर दिया गया था, और जिन लोगों में इस वायरस (कोरोना) संक्रमण के संकेत और लक्षण दिखाई दिए,उन्हें अलग कर दिया गया। संभावित रूप से संक्रमित व्यक्तियों के साथ संपर्क में आने वाले 400 से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों सहित 700 से अधिक लोगों की सुरुआत में निगरानी की गई थी।

इस संक्रमण का पता लगानेे के लिए एक विशिष्टट नैदानिक पीसीआर परीक्षण के विकास के बाद मूल वुुहान संकुल में 41 लोगों में 2019-ncov की उपस्थिति की पुष्टि की गई। इस वायरस (कोरोना) संक्रमण सेेेेेेेेेे पहले पुष्टि की गई मौत 9 January 2020 को हुई। 23 जनवरी को वुहान के अंदर और बाहर सभी सार्वजनिक परिवहन को निलंबित कर दिया गया।

30 जनवरी को WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) द्वारा कोरोना वायरस के प्रकार को अंतरराष्ट्रीय चिंता का सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया गया। इस प्रकार का आपातकाल WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) द्वारा 2019 के एच1 एन1 के बाद छठा आपातकाल है।

Latin भाषा में "कोरोना" का अर्थ "मुकुट" होता है और इस वायरस के कणों के इर्द-गिर्द उभरे हुए कांटे जैसे ढांचो से इलेक्ट्रॉन सूक्ष्मदर्शी में मुकुट जैसा आकार दिखता है, जिस पर इसका नाम रखा गया था। WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) ने इसका नाम SARS-Cov2 रखा है।


   कोरोना वायरस से प्रभावित क्षेत्र:-

  • 13 जनवरी थाईलैंड;
  • 15 जनवरी जापान;
  • 20 जनवरी दक्षिण कोरिया; 
  • 21 जनवरी ताइवान और संयुक्त राज्य अमेरिका
  • 22 जनवरी हांगकांग और मकाऊ;
  • 23 जनवरी सिंगापुर; 
  • 24 जनवरी फ्रांस,नेपाल और वियतनाम;
  • 25 जनवरी ऑस्ट्रेलिया और मलेशिया; 
  • 26 जनवरी कनाडा; 
  • 27 जनवरी कम्बोडिया;
  • 28 जनवरी जर्मनी; 
  • 29 जनवरी फिनलैंड,श्रीलंका और संयुक्त अरब अमीरात; 
  • 30 जनवरी भारत,इटली और फिलीपींस; 
  • 31 जनवरी यूनाइटेड किंगडम,रूस,स्वीडन और स्पेन।
  • 1 फरवरी तक दुनिया भर में 14,000 से अधिक मामलों की पुष्टि हुई।

 कोरोना वायरस केे संकेत और लक्षण | Effect of Coronavirus

पीड़ित व्यक्ति में कोई संकेत और लक्षण नहीं भी हो  सकते हैं, हालांकि लक्षण प्रकट करने वाले लोगों में बुखार,खांसी,सांस की तकलीफ और दस्त हो सकते हैं,और मामूली से बहुत गम्भीर हो सकते हैं। कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षणों की गम्भीरता व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न होती हैं, कुछ हल्के होते हैं, कुछ गम्भीर होते हैै और कुछ यहां तक की मृत्यु भी हो सकती हैं। इस बीमारी को गहराई से समझा जा सकता है, लेकिन गंभीर रूप से बीमार रोगी बुजुर्ग है या अन्य गंभीर बीमारियों से पीड़ित है।


कोरोना से बीमारी की शुरुआत:-

कोरोना वायरस 2019 के अंत में अनजान कारणों से निमोनिया जैसी बीमारी से सामने आया। बाद में पता चला की इस बीमारी का कारण सीवीयर एक्यूट रेस्पेटरी सिंड्रोम कोरोना वायरस 2 है। इस बीमारी के शुरुआत में  हल्की सर्दी, जुकाम जैसे लक्षण प्रकट होते हैं। WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) के अनुसार कोरोना संक्रमित करीब 80 फिसदी लोग बिना किसी खास इलाज के ठीक हो जाते हैं। अगर छह व्यक्ति संक्रमित है तो उसमें से एक व्यक्ति ही गंभीर रूप से बीमार पड़ता है और वह सांस (breathe) लेने में तकलीफ होने की स्थिति तक पहुंचता है। Types of Coronavirus


कोरोना संक्रमण की चार श्रेणियां:-


  • प्रोफेसर विल्सन के अनुसार कोरोना वायरस या कोविड-19 से संक्रमित लोगों को चार श्रेणियों में बांटा जा सकता है।

पहला श्रेणी: इसमें वह लोग होते हैं, जिनमें कोई लक्षण नहीं दिखता।

दूसरा श्रेणी: इस श्रेणी में वह लोग होते हैं जिनके श्वसन नली के ऊपरी हिस्से में संक्रमण होता है। इस स्थिति में संक्रमित लोगों में बुखार, कफ, सिर दर्द या आंख संबंधी बीमारी के लक्षण होते हैं।

तीसरा श्रेणी: इसमें वह लोग होते हैं जो कोरोना कोविड-19 पॉजिटिव होते हैं, जिनमें निमोनिया जैसे लक्षण होते हैं और जिन्हें अस्पताल में रहना होता है।

चौथा श्रेणी: इस श्रेणी के लोगों में निमोनिया जैसी बीमारी का गंभीर रूप दिखता है।


 कोरोना का संक्रमण कैसे फैलता है?


कोरोना वायरस मुख्य रूप से हवा की बूंदों के माध्यम से फैलता है जब एक संक्रमित व्यक्ति खांसी या लगभग 3 फीट या 6 फीट की सीमा के भीतर छींकता है। कोरोना वायरस (विषाणु) की तरह हैंडल रेलिंग के माध्यम से भी फैल सकता है। कोरोना वायरस कथित तौर पर अब तक चार लोगों की श्रृंखला को संक्रमित करने में सक्षम है।

कोरोना वायरस आपके शरीर में तभी पहुंचता है जब यह आपके आंख,नाक या मुंह में पहुंचे। कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना के संक्रमण की प्रमुख वजह खाँसना या छींकना ही है। किसी व्यक्ति के बहुत करीब जाकर बात करने या साथ खाना खाने से भी कोरोना वायरस फैल सकता है।


कोरोना वायरस से बचाव या रोकथाम:-


हाथ धोना- 



1. कम से कम 20 सेकंड के लिए साबुन और पानी से हाथ धोये।
2. अगर साबुन और पानी उपलब्ध नहीं है तो कम से कम 60% एल्कोहल वाले सेनेटाइज़र का उपयोग करें।
3. बिना हाथ धोए आंख, नाक, मुंह छूने से बचें।

श्वसन स्वच्छता-



1. चेहरे और नाक को ढकने के लिए मास्क लगाएं।
2. मास्क हटाने के बाद यदि आप अनजाने में मास्क को छूते हैं, तो साबुन, पानी या सेनेटाइजर से हाथ साफ करें।
3. अगर मास्क नम हो जाते हैं,तो उस मास्को को बदलकर साफ,सूखे मास्क लगाएं।
4. एक बार उपयोग किए गए मास्क का फिर से उपयोग ना करें।
5. जिन लोगों में कोरोना के माइल्ड लक्षण हो उन्हें खुद को 7 दिनों के लिए घर में ही सेल्फ आइसोलेट कर लेना चाहिए।


 कोरोना वायरस से जुड़े रोचक तथ्य:-


1. कोरोना वायरस को 4 sub cetogories में classified किया गया है-

  1. Alpha
  2. Beta
  3. Gamma
  4.  Delta

2. 1960 में पहली बार इंसानों में पाए जाने वाला कोरोना वायरस का पता चला था।इसमें 4 सामान्य प्रकार के कोरोना वायरस है|
    1.  229E- Alpha कोरोनावायरस
    2. NL63- Alpha कोरोनावायरस
    3. OC43- Beta कोरोनावायरस
    4. HKU1- Beta कोरोनावायरस

दुनिया भर में लोग आमतौर पर इन्हीं चार कोरोना वायरस से संक्रमित होते हैं।

3. असामान्य कोरोनावायरस- 

    1. Severe Acute Respiratory Syndrome (SARS)
    2. Middle East Respiratory Syndrome (MERS) 

4. 2019- Novel corona virus यह एक Beta corona virus है।
5. इस वायरस का कारण चमगादड़ बताया जा रहा है।
6. कोरोना वायरस का जीनोम आकर 27 से 34 मिलोबेस तक होता है।
7. कोरोना वायरस परिवार coronaviride और ऑर्डर Nidovirales में उप- परिवार और आर्थोकोरोनविरिनाइड से संबंधित है।

Post a Comment

6 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

आप सब का अनोखा ज्ञान पे बहुत बहुत स्वागत है.